UPHESC Hindi Syllabus – यूपी असिस्टेंट प्रोफेसर हिन्दी सिलेबस

UPHESC Hindi Syllabus यूपीएचईएससी हिन्दी सिलेबस यहाँ से पढ़ सकते हैं। आयोग द्वारा यह सिलेबस ही निर्धारित किया गया है। आप अपनी परीक्षा की तैयारी शुरू करने से पहले UP Assistant Professor Hindi Syllabus अच्छे से पढ़ लें।

सिलेबस को अच्छे से पढ़ने के बाद आपको इस परीक्षा की तैयारी के लिए एक नई दिशा मिल जाती है। किसी भी परीक्षा का सिलेबस आपको यह जानकारी देता है कि क्या और कितना पढ़ने की आवश्यकता है। आपको पता ही होगा हिन्दी विषय काफी विस्तृत विषय है इसलिए सिलेबस को पढ़ना ज्यादा जरुरी हो जाता है।

UPHESC Hindi Syllabus in Details – यूपी असिस्टेंट प्रोफेसर हिन्दी सिलेबस

इकाई एक 

हिन्दी साहित्य का इतिहास एवं लोक साहित्य 

1. साहित्येतिहास लेखन की परम्परा 

2. काल-विभाजन एवं नामकरण 

3. सिद्ध, नाथ एवं जैन सहित्य रचनाएँ एवं रचनाकार 

4. रासो काव्यपरम्परा रचनाएँ एवं रचनाकार 

5. लोक-साहित्य : पारिभाषिक स्वरूप एवं तत्व 

6. लोक साहित्य की विविध विधाऍ : स्वरूप, परिचय (लोकगीत, लोक कथा लोकगाथा, लोकनाट्य)

इकाई – दो 

मध्यकालीन काव्य 

1. भक्ति काव्य की विविध धाराएँ : वैचारिकता प्रवृत्तियॉ रचनाएँ एवं रचनाकार 

(अ) हिन्दी की संत काव्यपरम्परा 

(ब) हिन्दी की प्रेमाख्यानक काव्यपरम्परा 

(स) रामभक्ति काव्यपरम्परा 

(द) कृष्णभक्ति काव्यपरम्परा 

2. रीतिकालीन काव्य प्रवृत्तियाँ रचनाएँ एवं रचनाकार 

(अ) रीतिबद्ध काव्य धारा  

(ब) रीतिसिद्ध काव्य धारा 

(स) रीतिमुक्त काव्य धारा

इकाई – तीन आधुनिक हिन्दी काव्य

1. भारतीय नवजागरण : 

2. भारतेन्दुयुगीन काव्य: प्रमुख कवि एवं रचनाएँ 

3. द्विवेदीयुगीन काव्य: प्रमुख कवि एवं रचनाएँ 

4. छायावादी काव्य: प्रमुख कवि एवं रचनाएँ 

5. प्रगतिवादी काव्य: प्रमुख कवि एवं रचनाएँ

6. प्रयोगवाद एवं नयी कविता : प्रमुख कवि एवं रचनाएँ 

7. साठोत्तरी एवं समकालीन कविता : प्रमुख कवि एवं रचनाएँ

इकाई चार – आधुनिक कथा साहित्य

1. प्रेमचन्द – पूर्व हिन्दी – उपन्यास 

2. प्रेमचन्द युगीन हिन्दी – उपन्यास 

3. प्रेमचन्दोत्तर हिन्दी उपन्यास (आज तक) 

4. हिन्दी की आरम्भिक कहानियाँ 

5. स्वतंत्रता – पूर्व हिन्दी कहानी 

6. स्वातंत्र्योत्तर हिन्दी कहानी ( आज तक )

इकाई – पाँच आधुनिक नाट्य साहित्य एवं कथेतर गद्य

1. हिन्दी नाट्य साहित्य उद्भव और विकास 

2. हिन्दी – एकांकी उद्भव और विकास 

3. अन्य नाट्य रूप : रेडियो नाट्य, गीति नाट्य, नुक्कड़ नाटक, टेलि ड्रामा 

4. हिन्दी की कथेतर गद्य-विधाऐं रचनाकार एवं रचनाएँ, गद्य गीत रेखाचित्र, संस्मरण, यात्रा वृत्तांत, जीवनी, आत्मकथा, रिपोर्ताज, डायरी एवं पत्र साहित्य।

इकाई – छ : सामान्य भाषा विज्ञान एवं प्रयोजनमूलक हिन्दी

1. भाषा विज्ञान: सामान्य परिचय परिभाषा, क्षेत्र 

2. भाषा : परिभाषा, प्रकृति, विविध रूप (बोली, उपभाषा, भाषा, मानक  भाषा) 

3. हिन्दी – ध्वनियों का वर्गीकरण 

4. शब्द : परिभाषा और भेद, शब्द समूह का वर्गीकरण

5. वाक्य : परिभाषा एवं तत्व, वाक्य का विभाजन वाक्य के भेद 

6. हिन्दी की संवैधानिक स्थिति 

7. पारिभाषिक शब्दावली: अभिप्राय एवं वर्गीकरण (विज्ञान, प्रशासन विधि एवं वाणिज्य क्षेत्र की शब्दावली ) 

8. हिन्दी पत्रकारिता: उद्भव एवं विकास 

9. रेडियो और दूरदर्शन पत्रकारिता 

10. कम्प्यूटर, इण्टरनेट और हिन्दी

इकाई – सात:  भारतीय एवं पाश्चात्य साहित्य सिद्धांत

1. भारतीय काव्य शास्त्र के विविध संप्रदाय (रस, अलंकार, रीति, ध्वनि, वकोक्ति, औचित्य ) 

2. पाश्चात्य साहित्य-सिद्धांत (अरस्तू का अनुकरण एवं विरेचन सिद्धांत, कोचे का अभिव्यंजनावाद) कॉलरिज का कल्पनासिद्धांत, रिचर्ड का मूल्य सिद्धांत, टी. एस. इलियट का निर्वैयक्तिकता- सिद्धान्त । 

3. विभिन्न मतवाद अस्तित्ववाद, मार्क्सवाद, संरचनावाद, उत्तर आधुनिकतावाद 

4. हिन्दी साहित्य और स्त्री विमर्श 

5. हिन्दी साहित्य और दलित विमर्श

Leave a Comment

error: Content is protected !!