NET JRF Hindi Solved Paper 3 July 2016 – नेट जेआरएफ़ हिन्दी हल प्रश्नपत्र

NET JRF Hindi Solved Paper 3 July 2016 – नेट जेआरएफ़ हिन्दी हल प्रश्नपत्र

​​1. ‘चौपाई छंद का पूर्व रूप है-

(1) पद्धड़िया

(2) अरिल्ल

(3) पज्झटिका

(4) चौपाई

उत्तर (2)

2.”डिंगल कवियों की वीर-गाथाएं, निर्गुणिया संतों की वाणियाँ, कृष्ण भक्त या रागानुगा भक्तिमार्ग के साधकों के पद, राम-भक्ति या वैधी भक्तिमार्ग के उपाकसकों की कविताएं, सूफी साधना से पुष्ट मुसलमान कवियों के तथा ऐतिहासिक हिन्दू कवियों के रोमांस और रीति-काव्य- ये छहों धाराएँ अपभ्रंश कविता का स्वाभाविक विकास हैं।” यह कथन किसका है?

(1) रामचंद्र शुक्ल

(2) रामविलास शर्मा

(3) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(4) राहुल संकृत्यायन

उत्तर (3)

3. कुंडलिनी के उद्बुद्ध होने पर जो स्फोट होता है, उसे क्या कहते हैं?

(1) नाद

(2) प्रकाश

(3) बिंदु

(4) सिद्धि 

उत्तर (1)

4. स्वामी अग्रदास का संबंध किस भक्ति-शाखा से है?

(1) ज्ञानमार्गी

(2) प्रेममार्गी शाखा

(3) कृष्णभक्ति शाखा

(4) रामभक्ति शाखा

उत्तर (4)

5. जायसी ने अपनी किस काव्यकृति में कयामत का वर्णन किया है?

(1) मसलानामा

(2) अखरावट 

(3) आखिरी कलाम

(4) कहरनामा

उत्तर (3)

6. विशिष्टाद्वैत के प्रस्तोता आचार्य हैं-

(1) रामानुजाचार्य

(2) रामानन्द 

(3) शंकराचार्य

(4) मध्वाचार्य

उत्तर (1)

7. गौड़ीय संप्रदाय के संस्थापक हैं-

(1) हरिदास निरंजनी

(2) लालदास

(3) हितहरिवंश

(4) चैतन्य महाप्रभु

उत्तर (4)

8. ‘हितचौरासी’ के रचयिता हैं-

(1) नन्ददास 

(2) हितहरिवंश

(3) छीतस्वामी 

(4) स्वामी हरिदास

उत्तर (2(

9. “यह सूचित करने की आवश्यकता नहीं है कि न तो सूर का अवधी पर अधिकार था और न जायसी का ब्रजभाषा पर।” -यह कथन किसका है?

(1) हजारीप्रसाद द्विवेदी

(2) नगेन्द्र

(3) रामचंद्र शुक्ल

(4) रामकुमार वर्मा

उत्तर (3)

10. ‘गिरा अरथ, जल बीचि सम कहियत भिन्न न भिन्न ।

बंदौं सीताराम पद जिनहि परम प्रिय खिन्न ।।’

उक्त काव्य पंक्तियाँ किस कवि की हैं?

(1) केशवदास 

(2) तुलसीदास

(3) ईश्वरदास 

(4) नागरीदास

उत्तर (2)

11. “धर्म का प्रवाह कर्म, ज्ञान और भक्ति, इन तीन धाराओं में चलता है। इन तीनों के सामंजस्य से धर्म अपनी पूर्ण सजीव दशा में रहता है। किसी एक के भी अभाव से वह विकलांग रहता है।- यह कथन किस आलोचक का है?

(1) रामचन्द्र शुक्ल

(2) हजारीप्रसाद द्विवेदी

(3) राहुल सांकृत्यायन

(4) रामविलास शर्मा

उत्तर (1)

12. इनमें से किस कवि ने ‘नखशिख’ शीर्षक से काव्य ग्रंथ की रचना नहीं की?

(1) कुलपति मिश्र

(2) सुरति मिश्र 

(3) नृपशम्भू

(4) पजनेस

उत्तर (*)

13. ‘अंग दर्पण’ किस कवि की रचना है?

(1) रसलीन

(2) मुबारक

(3) बेनी प्रवीन

(4) रामसिंह

उत्तर (1)

14. ”चिरजीवो जोरी जुरै क्यों न सनेह गँभीर ।

को घटि वे वृषभानुजा वे हलधर के बीर।।”

‘वृषभानुजा’ और हलधर’ में कौन-सा अलंकार है?

(1) यमक

(2) प्रतीप

(3) श्लेष

(4) ब्याजस्तुति

उत्तर (3)

15. ‘पानिप अपार धन आनंद उकति ओछी

जतन जुगति जोन्ह कौन पै नपति है।’

उक्त काव्यांश में कवि कया कहना चाहता है?

(1) नायिका का सौंदर्य वर्णन असंभव नहीं है।

(2) नायिका के सौंदर्य से अच्छी कवि की उक्ति है।

(3) नायिका की सौन्दर्य की तुलना में मेरी उक्ति निकृष्ट।

(4) नायिका का सौन्दर्य और कवि की उक्ति दोनों अच्छे हैं।

उत्तर (3)

16. “अष्टछाप में सूरदास के पीछे इन्हीं का नाम लेना पड़ता है। इनकी रचना भी बड़ी सरस और मधुर है। इनके संबंध में यह कहावत प्रसिद्ध है कि “और कवि गढ़िया, नंददास जड़िया।”

यह कथन किस आलोचक का है?

(1) रामचंद्र शुक्ल

(2) हजारी प्रसाद द्विवेदी

(3) रामकुमार वर्मा

(4) नंददुलारे वाजपेयी 

उत्तर (1)

17. निम्नलिखित में से मैथिलीशरण गुप्त की कौन-सी रचना नायिका प्रधान नहीं है?

(1) यशोधरा

(2) पंचवटी 

(3) साकेत

(4) विष्णुप्रिया

उत्तर (2)

18. ‘छोड़ द्रुमो की मृदु छाया

तोड़ प्रकृति से भी माया

बाले! तेरे बाल-जाल में कैसे उलझा दूँ लोचन?”

इन काव्य पंक्तियों के रचयिता हैं-

(1) रामनरेश त्रिपाठी

(2) जयशंकर प्रसाद

(3) सुमित्रानंदन पंत

(4) सूर्यकांत त्रिपाठी ‘निराला’

उत्तर (3)

19. दिनकर की किस कृति का कथानायक कर्ण है?

(1) कुरुक्षेत्र

(2) रश्मिरथी

(3) उर्वशी

(4) परशुराम की प्रतीक्षा 

उत्तर (2)

20, ‘अब तक क्या किया,

जीवन क्या जिया,

ज्यादा लिया और दिया बहुत-बहुत कम…

उपर्युक्त पंक्तियों के रचयिता हैं-

(1) अज्ञेय

(2) रघुवीर सहाय 

(3) शमशेर बहादुरसिंह

(4) मुक्तिबोध

उत्तर (4)

21. ‘मौन भी अभिव्यंजना है

जितना तुम्हारा सच है

उतना ही कहा।’

‘मौन’ के इस रचनात्मक संदर्भ की अभिव्यक्ति अज्ञेय ने अपनी किस काव्य कृति में की है?

(1) इंद्रधनुष रौन्दे हुए ये

(2) पहले मैं सन्नाटा बुनता

(3) आँगन के पार द्वार

(4) हरी घास पर क्षण भर

उत्तर (1)

22. ‘विद्रोहिणी अम्बा’ नाटक के रचयिता हैं-

(1) सेठ गोविंददास

(2) गोविन्दबल्लभ पंत

(3) चन्द्रगुप्त विद्यालंकार

(4) उदयशंकर भट्ट

उत्तर (4)

23. निम्नलिखित में में से किस नाटक का प्रच्छन्न नायक गौतम बुद्ध हैं?

(1) अजातशत्रु

(2) विक्रमादित्य 

(3) लहरों के राजहंस

(4) दशाश्वमेघ

उत्तर (3)

24. निम्नलिखित में से कौन-सा नाटककार सर्वाधिक

नाटकों का रचयिता है?

(1) ज्ञानदेव अग्निहोत्री

(2) लक्ष्मीनारायण लाल

(3) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

(4) सर्वेश्वरदयाल सक्सेना

उत्तर (2)

25. ‘पूस की रात’ कहानी का प्रमुख पात्र है-

(1) माधव

(2) अलगू

(3) हल्कू

(4) रग्घू

उत्तर (3)

26. ‘सूरज का सातवाँ घोड़ा’ के लेखक हैं-

(1) धर्मवीर भारती

(2) कमलेश्वर 

(3) राजेन्द्र यादव

(4) मोहन राकेश 

उत्तर (1)

27. ‘आवारा मसीहा’ औपन्यासिक जीवनी किसके जीवन पर आधारित है।

(1) शरतचंद्र

(2) बंकिमचंद्र 

(3) महात्मा गांधी

(4) विवेकानंद

उत्तर (1)

28. इनमें से कौन-सा उपन्यास भीष्म साहनी द्वारा रचित रचित नहीं है?

(1) झरोखे

(2) कड़ियाँ 

(3) बसंती

(4) पीढ़ियां

उत्तर (4)

29. नागार्जुन द्वारा रचित मछुआरों के जीवन पर आधारित उपन्यास है-

(1) बूँद और समुद्र

(2) वरुण के बेटे 

(3) सागर, लहरें और मनुष्य

(4) डूब

उत्तर (2)

30. ‘माटी की मूरतें’ के लेखक हैं-

(1) जगदीशचन्द्र माथुर

(2) विष्णु प्रभाकर

(3) पद्मसिंह शर्मा

(4) रामवृक्ष बेनीपुरी

उत्तर (4)

31. ‘कर्मवीर’ पत्रिका के सम्पादक थे-

(1) माखनलाल चतुर्वेदी

(2) सोहनलाल द्विवेदी

(3) गुलाबराय 

(4) श्यामसुन्दर

उत्तर (1)

32. महात्मा गांधी की जीवनी ‘अकाल पुरुष गांधी’ के लेखक हैं-

(1) गिरिराज किशोर 

(2) जैनेन्द्र कुमार

(3) यशपाल

(4) इलाचंद्र जोशी

उत्तर (2)

33. इनमें से कौन सा संस्मरणात्मक ग्रंथ कृष्णा सोबती द्वारा रचित है?

(1) हम हशमत

(2) यादें और बातें 

(3) दीवानखाना

(4) स्मृतियों के छंद

उत्तर (1)

34. ‘कविता कवि व्यक्तित्व की अभिव्यक्ति नहीं, व्यक्तित्व से पलायन है।’ यह कथन किसका है?

(1) लुकाच

(2) आई.ए. रिचर्ड्स

(3) कॉलरिज

(4) टी. एस. इलियट

उत्तर (4)

35. ‘बायेग्राफिया लिटरेरिया’ के लेखक हैं-

(1) बर्ड्सवर्थ

(2) कॉलरिज

(3) टी.एस.इलियट

(4) आई.ए. रिचर्ड्स

उत्तर (2)

36. ‘पेरिइप्सुस’ के आधार पर ‘काव्य में उदात्त तत्व’ की अवधारणा का प्रवर्तन किसने किया?

(1) अरस्तू

(2) टी.एस.इलियट

(3) लौंजाइनस

(4) आई.ए. रिचर्ड्स

उत्तर (3)

37. ‘श्रेष्ठ कविता प्रबल मनोवेगों का सहज उच्छलन है, किन्तु इसके पीछे कवि की विचारशीलता और गहन चिन्तन होना चाहिए।’

यह विचार किस पाश्चात्य चिंतक का है?

(1) कॉलरिज

(2) क्रोचे

(3) लेविस

(4) वर्ड्सवर्थ

उत्तर (4(

38. ‘नया साहित्य : नये प्रश्न’ ग्रंथ के लेखक हैं-

(1) नगेन्द्र

(2) शान्तिप्रिय द्विवेदी 

(3) नन्ददुलारे वाजपेयी

(4) हजारी प्रसाद द्विवेदी

उत्तर (3)

39. ‘प्रतिभा’ का संबंध किससे है?

(1) काव्य हेतु

(2) काव्य स्वरूप 

(3) काव्य प्रयोजन

(4) काव्य लक्षण

उत्तर (1)

40. ‘कविवचनसुधा’ के संपादक थे-

(1) भारतेन्दु हरिश्चन्द्र

(2) राधाकृष्णदास

(3) बदरीनारायण चौधरी ‘प्रेमघन’

(4) अम्बिकादत्त

उत्तर (1)

41. रचनाकाल के आधार पर निम्नलिखित रचनाओं का सही अनुक्रम है-

(1) ज्ञानदीप, इन्द्रावती, प्रेमरतन, हंसजवाहिर

(2) इन्द्रावती, प्रेमरतन, ज्ञानदीप, हंसजवाहिर

(3) प्रेमरतन, इन्द्रावती, हंसजवाहिर, ज्ञानदीप

(4) ज्ञानदीप, प्रेमरतन, हंसजवाहिर, इन्द्रावती

उत्तर (4)

42. रचनाकाल के आधार पर निम्नलिखित रचनाओं का सही अनुक्रम हैं-

(1) मृगावती, चंदायन, मधुमालती, चित्रावली

(2) चंदायन,मृगावती, मधुमालती, चित्रावली

(3) मधुमालती, चंदायन, चित्रावली, मृगावती

(4) चित्रावली, मधुमालती, चंदायन, मृगावती

उत्तर (2)

43. जन्मकाल के आधार पर निम्नलिखित रचनाकारों का सही अनुक्रम है-

(1) भूषण, चिंतामणि, केशवदास, सेनापति

(2) सेनापति, भूषण, केशवदास, चिंतामणि

(3) केशवदास, सेनापति, चिंतामणि, भूषण

(4) सेनापति, केशवदास, भूषण, चिंतामणि

उत्तर (3)

44. जन्मकाल के आधार पर निम्नलिखित कवियों सही अनुक्रम है-

(1) बद्रीनारायण चौधरी प्रेमघन, प्रतापनारायण मिश्र, भारतेन्दु हरिश्चंद्र, जगमोहन सिंह

(2) भारतेन्दु हरिश्चद्र, प्रतापनारायण मिश्र, जगमोहन सिंह,बद्रीनारायण चौधरी प्रेमघन

(3) भारतेन्दु हरिश्चंद्र, बद्रीनारायण चौधरी प्रेमघन, प्रतापनारायण मिश्र, जगमोहन सिंह

(4) प्रतापनारायण मिश्र, भारतेन्दु हरिश्चंद्र, बद्रीनारायण चौधरी प्रेमघन, जगमोहन सिंह

उत्तर (3)

45. जयशंकर प्रसाद की निम्नलिखित काव्यकृतियों का सही अनुक्रम है-

(1) कानन कुसुम, आँसू, झरना, लहर

(2) आँसू, कानन कुसुम, लहर, झरना

(3) झरना, लहर, आँसू, कानन कुसुम

(4) कानन कुसुम, झरना, आँसू, लहर

उत्तर (4)

46. जन्मकाल के आधार पर निम्नलिखित कवियों का सही अनुक्रम है-

(1) नागार्जुन, त्रिलोचन, भवानीप्रसाद मिश्र, नरेश मेहता

(2) त्रिलोचन, नागार्जुन, नरेश मेहता, भवानीप्रसाद मिश्र

(3) नागार्जुन, भवानीप्रसाद मिश्र, त्रिलोचन, नरेश मेहता

(4) भवानीप्रसाद मिश्र, त्रिलोचन, नागार्जुन, नरेश मेहता

उत्तर (3)

47. प्रकाशन वर्ष के अनुसार भीष्म साहनी के नाटकों का सही अनुक्रम है-

(1) कबिरा खड़ा बाजार में, हानूश, आलमगीर, माधवी

(2) हानूश, कबिरा खड़ा बाजार में, माधवी, आलमगीर

(3) हानूश, माधवी, कबिरा खड़ा बाजार में आलमगीर

(4) माधवी, कबिरा खड़ा बाजार में, आलमगीर, हानूश

उत्तर (2)

48. कथावस्तु को प्रधान फल की प्राप्ति की ओर अग्रसर कराने वाले चमत्कारपूर्ण अंश को अर्थ प्रकृति कहा जाता है।

इन पाँच अर्थ प्रकृतियों का सही अनुक्रम है-

(1) बिंदु, पताका, प्रकरी, बीज, कार्य

(2) पताका, बीज, बिंदु, कार्य, प्रकरी

(3) बीज, बिंदु प्रकरी, पताका, कार्य

(4) बीज, बिंदु, पताका, प्रकरी, कार्य

उत्तर (4)

49. प्रकाशन वर्ष के अनुसार मृदुला गर्ग के उपन्यासों का सही अनुक्रम है-

(1) उसके हिस्से की धूप, चित्तकोबरा, मैं और मैं, कठगुलाब

(2) चित्तकोबरा, उसके हिस्से की धूप, मैं और मैं, कठगुलाब

(3) उसके हिस्से की धूप, मैं और मैं, कठगुलाब, चित्तकोबरा

(4) कठगुलाब, चित्तकोबरा, मैं और मैं, उसके हिस्से की धूप

उत्तर (1)

50. प्रकाशन वर्ष के आधार पर जयशंकर प्रसाद कहानी संग्रहों का सही अनुक्रम है-

(1) प्रतिध्वनि, छाया, आकाशदीप, इन्द्रजाल

(2) छाया, प्रतिध्वनि, आकाशदीप, इन्द्रजाल

(3) इन्द्रजाल, छाया, प्रतिध्वनि, आकाशदीप

(4) आकाशदीप, छाया, इन्द्रजाल, प्रतिध्वनि

उत्तर (2)

51. प्रकाशन वर्ष के अनुसार निम्नलिखित उपन्यासों का सही अनुक्रम है-

(1) सूनी घाटी का सूरज, मकान, सीमायें टूटती हैं, विश्रामपुर का संत

(2) सूनी घाटी का सूरज,सीमायें टूटती हैं, मकान, विश्रामपुर का संत

(3) सीमाये टूटती हैं, सूनी घाटी का सूरज, मकान, विश्रामपुर का संत

(4) मकान, सूनी घाटी का सूरज, विश्रामपुर का संत, सीमायें टूटती हैं

उत्तर (2)

52. प्रकाशन वर्ष के अनुसार निम्नलिखित आत्मकथाओ सही अनुक्रम है-

(1) क्या क्या याद करूँ, बसेरे से दूर, टुकड़े टुकड़े दास्तान, जो मैंने किया

(2) बसेरे से दूर, क्या भूलूँ क्या याद करूँ, टुकड़े टुकड़े दास्तान, जो मैंने किया

(3) टुकड़े टुकड़े दास्तान, जो मैंने किया, बसेरे से दूर,क्या भूलूँ क्या याद करूँ

(4) जो मैंने किया क्या भूलूँ क्या याद करूँ, बसेरे से दूर, टुकड़े टुकड़े दास्तान

उत्तर (1)

53. प्रकाशन वर्ष के अनुसार निम्नलिखित निबंध-संग्रहों का सही अनुक्रम है-

(1) कल्पलता, कुटज, आलेक पर्व, अशोक के फूल

(2) कुटज, आलोक पर्व, अशोक के फूल, कल्पलता

(3) आलोक पर्व, कल्पलता, अशोक के फूल, कुटज

(4) अशोक के फूल, कल्पलता, कुटज, आलोक पर्व

उत्तर (4)

54. प्रकाशन वर्ष अनुसार निम्नलिखित आलोचना ग्रंथों सही अनुक्रम है-

(1) आधुनिक हिन्दी साहित्य, रस सिद्धान्त, दक्खिनी हिन्दी का साहित्य, मार्क्सवादी साहित्य चिंतन

(2) रस सिद्धांत, आधुनिक हिन्दी साहित्य, दक्खिनी हिन्दी का साहित्य, मार्क्सवादी साहित्य चिंतन

(3) आधुनिक हिन्दी साहित्य, दक्खिनी हिन्दी का साहित्य, मार्क्सवादी साहित्य चिंतन, रस सिद्धांत

(4) आधुनिक हिन्दी साहित्य, मार्क्सवादी साहित्य चिंतन, रस सिद्धांत, दक्खिनी हिन्दी साहित्य

उत्तर (1)

55. प्रकाशन वर्ष की दृष्टि से डॉ. नगेन्द्र के आलोचना ग्रंथों का सही अनुक्रम है-

(1) भारतीय काव्य-शास्त्र की भूमिका, काव्य में उदात्त तत्व, साहित्य का समाजशास्त्र, भारतीय सौन्दर्यशास्त्र की भूमिका

(2) भारतीय काव्य-शास्त्र की भूमिका, काव्य में उदात्त तत्व, भारतीय सौन्दर्यशास्त्र की भूमिका, साहित्य का समाजशास्त्र

(3) काव्य में उदात्त तत्व, भारतीय काव्य शास्त्र की भूमिका, भारतीय सौन्दर्यशास्त्र की भूमिका, साहित्य का समाजशास्त्र

(4) भारतीय सौंदर्यशास्त्र की भूमिका, साहित्य का समाजशास्त्र, भारतीय काव्य शास्त्र की भूमिका, काव्य में उदात्त तत्व

उत्तर (2)

निर्देश: इस प्रश्न में दो कथन दिए गए हैं। इनमें से एक स्थापना (Assertion) (A) है और दूसरा तर्क (Reason) (R) दिए गये विकल्पों में से सही विकल्प का चयन कीजिए-

56. स्थापना (Assertion) (A) : ‘रसौ वै सः ।’

तर्क (Reason) (R) : इसीलिए रस को ब्रह्मास्वाद सहोदर कहा गया है।

विकल्पः

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (3)

57. स्थापना (Assertion) (A) : छायावाद केवल व्यक्ति के प्रेम, सौंदर्य और यौवन की कविता है।

तर्क (Reason) (R) : इसीलिए उसमें सामाजिक नैतिकता कि उपेक्षा मिलती है।

विकल्पः

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (4)

58. स्थापना (Assertion) (A) : रहस्य – भावना के लिए द्वैत की स्थिति भी आवश्यक है और अद्वैत का आभास भी। 

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि एक के अभाव में विरह की अनुभूति असंभव हो जाती है और दूसरे के बिना मिलन की इच्छा आधार खो देती है।

विकल्पः

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (3)

59. स्थापना (Assertion) (A) : प्रसाद के अनुसार काव्य मन और आत्मा की संकल्पात्मक अनुभूति है, जिसका संबंध विश्लेषण विकल्प या विज्ञान से नहीं है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि काव्य आत्मा की.मनन-शक्ति की वह असाधारण अवस्था है जो श्रेय सत्य को उसके मूल चारुत्व में सहसा ग्रहण कर युगों की समष्टि अनुभूतियों में अंतर्निहित शाश्वत चेतना का

काव्यमय सृजन करती है। इसलिए छायावादी काव्य की मूल चेतना रहस्यवादी है।

विकल्प:

(1) (A) गलत (R) सही 

(2) (A) सही (R) सही

(3) (A) गलत (R) गलत 

(4) (A) सही (R) गलत

उत्तर (1)

60. स्थापना (Assertion) (A) : शुद्ध वियोग का दुख केवल प्रिय के अलग हो जाने की भावना से उत्पन्न क्षोभ या विषाद है जिसमें प्रिय के दुख या कष्ट आदि की कोई भावना नहीं रहती।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि जिस व्यक्ति से किसी की घनिष्ठता और प्रीति होती है वह उसके जीवन के बहुत से व्यापारों तथा मनोवृत्तियों का आधार होता है।

विकल्पः

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (2)

61. स्थापना (Assertion) (A) : आद्य बिंब आदिम मनुष्य की ऐंद्रिक कल्पना है।

तर्क (Reason) (R) : इसीलिए आगे चलकर कथात्मक तत्वों के सम्मिलन से यही आद्य बिंब मिथक के रूप में विकसित हुआ।

विकल्पः

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (3)

62. स्थापना (Assertion) (A) : रस व्यापक स्तर पर भारतीय काव्य का महत्वपूर्ण तत्व है इसीलिए संपूर्ण हिन्दी कविता का एकमात्र निकस रस है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि स्वतंत्रता के बाद तक की हिन्दी कविता का मूल्यांकन रस की शास्त्रीय पद्धति द्वारा ही संभव है।

विकल्प:

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (4)

63. स्थापना (Assertion) (A) : साहित्य जनता की अभिजात्य चित्तवृत्तियों का प्रतिबिंब है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि साहित्य में अभिव्यक्त भाव और विचार जन सामान्य की धरोहर नहीं होते।

विकल्प:

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (4)

64. स्थापना (Assertion) (A) : साहित्य लेखक के विशिष्ट व्यक्तित्व का प्रकाशन है।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि जनसमूह के पास अपने अनुभवों को व्यक्त करने की कलात्मक सामर्थ्य नहीं होती।

विकल्पः

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (2)

65. स्थापना (Assertion) (A) : दार्शनिकता और अनुभूति संपन्नता से ही व्यक्तित्व का समाजीकरण नहीं हो जाता।

तर्क (Reason) (R) : क्योंकि व्यक्तित्व के  समाजीकरण के लिए अपनी शक्तियों को मानव कल्याण और सामाजिक कार्य की ओर उन्मुख करना होता है।

विकल्प:

(1) (A) सही (R) गलत

(2) (A) गलत (R) सही

(3) (A) सही (R) सही

(4) (A) गलत (R) गलत

उत्तर (3)

66. निम्नलिखित रचनाओं को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-1                               सूची-II 

(a) रास पंचाध्यायी                  (i) रसखान

(b) प्रेम वाटिका                    (ii) सेनापति

(c) कवित्व रत्नाकर                (iii) नंददास

(d) बरवै नायिका भेद              (iv) आलम

                               (v) रहीम

विकल्प :

       (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (ii)     (i)      (iii)       (v)

(2)  (i)      (ii)      (v)       (iii)

(3)  (iv)    (ii)      (v)        (i)

(4)  (iii)    (i)       (ii)       (v)

उत्तर (4)

67. निम्नलिखित काव्य पंक्तियों को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिये-

सूची-I                                    सूची-II

(a) कौन परी बानि, अरि।              (i) द्विजदेव 

नित नीर भरी गगरी ढरकावै।।

(b) यह प्रेम को पंथ कराल महा।        (ii) प्रताप साहि

तरवारि की धार पैं धावनों है।

(c) चोजिन के चोजी, मौजिन के महाराज  (iii) बोधा

हम कविराज हैं, पैचाकर चतुर के

(d) चांदनी के भारन दिखात उनयो सो चंद  (iv) पजनेस

गंध ही के भारन बहत मंद मंद पौन ।।

                                    (V) ठाकुर 

विकल्प :

       (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (ii)     (iii)      (v)       (i)

(2)  (i)       (v)     (iii)       (ii)

(3)  (iii)     (iv)      (ii)       (i)

(4)  (v)      (ii)       (i)       (iii)

उत्तर (1)

68. निम्नलिखित रचनाओं को उनके रचनाकारों के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-I                              सूची-II 

(a) प्रबंध चिंतामणि             (i)  श्रीधर

(b) रणमल्ल छंद               (ii) जैनाचार्य मेरूतुंग

(c) जयचंद प्रकाश              (iii) मधुकर कवि

(d) जयमयंक जसचंद्रिका        (iv) भट्ट केदार

                            (v) दामोदर

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (ii)      (i)      (iv)     (iii)

(2)  (i)      (ii)     (iii)      (iv)

(3)  (ii)     (iii)     (v)       (i)

(4)  (iii)    (v)      (iv)      (ii)

उत्तर (1)

69. निम्नलिखित कविताओं को उनके प्रकाशन वर्ष के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-I                          सूची-II 

(a) प्रेम माधुरी               (i) 1886

(b) एकांतवासी योगी          (ii) 1925

(c) हिमतरंगिणी              (iii) 1875

(d) नीहार                   (iv) 1948

                           (v) 1930

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (ii)      (iii)     (iv)     (v)

(2)  (i)      (ii)      (iii)      (iv)

(3)  (iii)     (i)      (iv)       (v)

(4)  (iv)    (iii)      (ii)       (i)

उत्तर (3)

70. निम्नलिखित कविताओं को उनके प्रकाशन वर्ष के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-I                       सूची-II

(a) कुकुरमुत्ता             (i) 1933

(b) हुंकार                (ii) 1942

(c) भग्नदूत              (iii) 1936

(d) प्रेमसंगीत             (iv) 1939

                        (v) 1937

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (i)      (ii)      (iii)     (iv)

(2)  (ii)     (iii)     (iv)      (v)

(3)  (v)     (iii)      (ii)       (i)

(4)  (ii)      (iv)      (i)       (v)

उत्तर (4)

71. निम्नलिखित पात्रों को संबंधित रचनाओं के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-I                       सूची-II 

(a) राधा          (i) राम की शक्ति पूजा

(b) जाम्बवान      (ii) असाध्य वीणा

(c) युधिष्ठिर      (iii) प्रिय प्रवास 

(d) केशकंबली     (iv) विजय पथ

                 (v) महाप्रस्थान

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (i)      (ii)      (iii)     (iv)

(2)  (iii)      (i)      (v)      (ii)

(3)  (ii)      (i)      (iii)     (iv)

(4)  (v)      (i)      (ii)       (iii)

उत्तर (2)

72. निम्नलिखित स्त्री चरित्रों को संबंधित नाटकों के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची- I                       सूची-II 

(a) शीलवती            (i) पहला राजा

(b) शर्मिष्ठा            (ii) दौपदी

(c) सुरेखा             (iii) सूर्य की अंतिम किरण से

                         सूर्य की पहली किरण तक

(d) उर्वी               (iv) देवयानी का कहना है

                     (v) देहान्तर

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (i)      (ii)      (iii)    (iv)

(2)  (iii)     (v)     (ii)      (i)

(3)  (ii)     (iii)      (iv)    (v)

(4)  (iv)    (v)      (iii)     (ii)

उत्तर (2)

73. निम्नलिखित उपन्यासों को उनक लेखकों के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-1                              सूची-II 

(a) भाग्यवती          (i) अयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’

(b) नूतन ब्रह्मचारी    (ii) श्रद्धाराम फिल्लौरी 

(c) अधखिला फूल     (iii) राधाकृष्ण दास

(d) आदर्श दंपति      (iv) बालकृष्ण भट्ट

                   (v) लज्जाराम मेहता

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (ii)    (iv)     (i)       (v)

(2)  (iii)    (ii)    (v)     (iv)

(3)  (iv)    (iii)    (ii)     (i)

(4)  (v)     (ii)      (i)     (iii)

उत्तर (1)

74. निम्नलिखित आत्मकथाओं को उनके लेखकों के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-I                               सूची-II

(a) पानी बिच मीन पियासी      (i) रमणिका गुप्ता

(b) आज के अतीत             (ii) रवीन्द्र कालिया 

(c) पिंजरे की मैंना             (iii) मिथिलेश्वर 

(d) हादसे                     (iv)भीष्म साहनी 

                            (v) चंद्रकिरण सौनरेक्सा

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (ii)    (iii)      (iv)    (v)

(2)  (iii)    (ii)     (i)      (iv)

(3)  (i)     (ii)      (iii)    (iv)

(4)  (iii)    (iv)      (v)     (i)

उत्तर (4)

75. निम्नलिखित रचनाकारों को उनकी रचनाओं के साथ सुमेलित कीजिए-

सूची-I                             सूची-II 

(a) भरत                   (i) साहित्य दर्पण 

(b) धनंजय                 (ii) नाट्य दर्पण 

(c) सागरनंदी               (iii) नाट्य शास्त्र 

(d) रामचंद्र गुणचंद्र          (iv) दशरूपक 

                         (v) नाटक लक्षण रत्नकोश

विकल्प :

     (a)     (b)      (c)      (d)

(1)  (iii)   (iv)     (v)     (ii)

(2)  (i)     (ii)     (iii)      (iv)

(3)  (iv)     (i)      (ii)    (v)

(4)  (ii)    (iii)      (v)     (iv)

उत्तर (1)

Leave a Comment

error: Content is protected !!