NET JRF Hindi Solved Paper – 2 June 2013 – नेट जेआरएफ़ हल प्रश्न पत्र

NET JRF Hindi Solved Paper – 2 June 2013 – नेट जेआरएफ़ हल प्रश्न पत्र

निर्देश : इस प्रश्नपत्र में (50) बहु-विकल्पीय प्रश्न हैं। प्रत्येक प्रश्न के दो (2) अंक हैं। सभी प्रश्न अनिवार्य हैं। 

1. ‘वट पीपल’ के लेखक कौन हैं? 

(1) हरिवंशराय बच्चन 

(2) रामधारी सिंह दिनकर 

(3) रामकुमार वर्मा 

(4) निर्मल वर्मा 

उत्तर (2) 

2 ‘समांतर कहानी’ के पुरस्कर्ता हैं? 

(1) महीप सिंह 

(2) कमलेश्वर 

(3) मोहन राकेश 

(4) राजेन्द्र यादव 

उत्तर (2) 

3. ‘शेषयात्रा’ की लेखिका कौन हैं? 

(1) उषा प्रियवदा 

(2) कृष्णा सोबती 

(3) नासिरा शर्मा 

(4) मन्नू भण्डारी 

उत्तर (1) 

4. हिन्दी साहित्य के प्रथम इतिहासकार हैं- 

(1) जॉर्ज ग्रियर्सन 

(2) रामचन्द्र शुक्ल  

(3) शिवसिंह सेंगर 

(4) गार्सा द तासी 

उत्तर (4) 

5. ‘कुमारपाल प्रतिबोध’ के रचनाकार कौन हैं? 

(1) हेमचन्द्र 

(2) सारंगधर  

(3) सोमप्रभु सूरि  

(4) विद्याधर 

उत्तर (3) 

6. निम्नलिखित में कौन-सी रचना उपन्यास नहीं हैं? 

(1) जयवर्धन 

(2) अजय की डायरी 

(3) एक साहित्यिक की डायरी 

(4) पहला गिरमिटिया 

उत्तर (3) 

7. इनमें से कौन नागरी प्रचारिणी सभा के संस्थापकों में नहीं हैं? 

(1) रामनारायण मिश्र  

(2) श्यामसुन्दर दास 

(3) रामचंद्र शुक्ल  

(4) ठाकुर शिवकुमार सिंह 

उत्तर (3) 

8. इनमें कौन वैष्णव भक्ति का आचार्य नहीं है? 

(1) शंकराचार्य 

(2) रामानुजाचार्य 

(3) वल्लभाचार्य 

(4) मध्वाचार्य 

उत्तर (1) 

9. जगनिक की रचना कही जाती है- 

(1) बीसलदेव रासो 

(2) पृथ्वीराज रासो 

(3) परमाल रासो 

(4) आल्हखण्ड 

उत्तर (3/4) 

10. ‘झोपड़ी से राजभवन तक’ के लेखक कौन हैं? 

(1) माता प्रसाद 

(2) नैमिशराय 

(3) कंवल भारती  

(4) सूरजपाल चौहान 

उत्तर (1) 

11. ‘राम की शक्ति पूजा’ की यौगिक प्रक्रिया का स्रोत क्या है? 

(1) वेदान्त 

(2) योगवशिष्ठ 

(3) नव वेदान्त 

(4) हठ योग 

उत्तर (3) 

12. इनमें से कौन ‘तार सप्तक’ के कवि नहीं हैं? 

(1) भारत भूषण अग्रवाल 

(2) भवानी प्रसाद मिश्र 

(3) प्रभाकर माचवे 

(4) गिरिजाकुमार माथुर 

उत्तर (2) 

13. ‘एक हथौड़ा वाला घर में और हुआ’ किसकी पंक्ति हैं? 

(1) केदारनाथ अग्रवाल 

(2) रामदरश मिश्र 

(3) रामकुमार वर्मा 

(4) शिवमंगल सिंह ‘सुमन’ 

उत्तर (1) 

14. प्रयोगवाद को ‘बैठे ठाले का धंधा’ किसने कहा है? 

(1) शिदानसिंह चौहान 

(2) नगेन्द्र 

(3) रामकुमार वर्मा 

(4) नन्ददुलारे वाजपेयी 

उत्तर (4) 

15. ‘अगले जनम मोहि बिटिया न कीजो’ की लेखिका कौन हैं? 

(1) मधु कांकरिया 

(2) अनामिका 

(3) उषाराजे सक्सेना 

(4) कुर्रतुल ऐन हैदर  

उत्तर (4)  

16. ‘अग्निपथ के पार चंदन- चांदनी का देश’ किसकी पंक्ति है? 

(1) हरिवंशराय बच्चन 

(2) रामनरेश त्रिपाठी 

(3) महादेवी वर्मा 

(4) नरेन्द्र शर्मा 

उत्तर (3) 

17. ‘आनन्द कादम्बिनी के संपादक कौन थे? 

(1) बाबू महादेव सेठ 

(2) चन्द्रधर शर्मा गुलेरी 

(3) बदरीनारायण चौधरी ‘प्रेमधन’ 

(4) अम्बिका प्रसाद व्यास 

उत्तर (3) 

18. ‘गोबर गणेश’ उपन्यास क लेखक कौन हैं? 

(1) रमेशचन्द्र शाह 

(2) विवेकीराय 

(3) शिवप्रसाद सिंह 

(4) शैलेश मटियानी 

उत्तर (1) 

19. ‘फादर कामिल बुल्के’ को हिन्दी साहित्य में महत्त्व दिये जाने का कारण है? 

(1) कोश निर्माण 

(2) रामकथा लेखन 

(3) तुलसी साहित्य विशेषज्ञ 

(4) ये सभी 

उत्तर (4) 

20. ‘आत्माराम की टें-टें’ निबन्ध में आत्माराम के प्रतीक हैं? 

(1) गोविन्द नारायण मिश्र 

(2) गोपालराम ‘गहमरी’ 

(3) महावीर प्रसाद द्विवेदी 

(4) बालमुकुन्द गुप्त 

उत्तर (4) 

21. प्रकाशन के अनुसार इन आलोचना ग्रंथों का सही अनुक्रम कौन सा है? 

(1) प्रेमचन्द और उनका युग, हिन्दी साहित्य के अस्सी वर्ष, छायावाद, हिन्दी नवरत्न 

(2) हिन्दी नवरत्न, प्रेमचन्द और उनका युग,हिन्दी साहित्य के अस्सी वर्ष, छायावाद 

(3) हिन्दी साहित्य के अस्सी वर्ष, छायावाद, हिन्दी नवरत्न, प्रेमचन्द और उनका युग 

(4) छायावाद, हिन्दी नवरत्न, प्रेमचन्द और उनका युग, हिन्दी साहित्य के अस्सी वर्ष 

उत्तर (2) 

22. जन्म के आधार पर इन निबन्धकारों का सही अनुक्रम कौन-सा हैं? 

(1) रामवृक्ष बेनीपुरी, वासुदेवशरण अग्रवाल, भागवतशरण उपाध्याय, डॉ सम्पूर्णानन्द 

(2) वासुदेवशरण अग्रवाल, भगवतशरण उपाध्याय, डॉ सम्पूर्णनन्द, रामवृक्ष बेनीपुरी 

(3) भगवतशरण उपाध्याय, डॉ सम्पूर्णानन्द, रामवृक्ष बेनीपुरी, वासुदेवशरण अग्रवाल 

(4) डॉ सम्पूर्णानन्द, रामवृक्षा बेनीपुरी, वासुदेवशरण अग्रवाल, भगवतशरण उपाध्याय 

उत्तर (4) 

23. प्रकाशन वर्ष के आधार पर इन उपन्यासों का सही अनुक्रम क्या है? 

(1) रुकोगी नहीं राधिका, आपका बंटी, सूरजमुखी अँधेरे के, चित्तकोबरा 

(2) आपका बंटी, सूरजमुखी अँधेरे के, चित्तकोबरा, रुकोगी नहीं, राधिका

(3) सूरजमुखी अंधरे के, चित्तकोबरा, रुकोगी नहीं राधिका, आपका बंटी  

(4) चित्तकोबरा, रुकोगी नहीं राधिका, अपाका बंटी, सूरजमुखी अँधेरे के 

उत्तर (1) 

24. प्रसाद के नाटकों का सही अनुक्रम कौन-सा है? 

(1) विशाख – अजातशत्रु, स्कन्दगुप्त, राज्यश्री 

(2) अजातशत्रु, स्कन्दगुप्त, राज्यश्री, विशाख 

(3) राज्यश्री, विशाख, अजातशत्रु, स्कन्दगुप्त 

(4) स्कन्दगुप्त, राज्यश्री, विशाख, आजादशत्रु 

उत्तर (3) 

25. जैनेन्द्र कुमार के उपन्यासों का सही अनुक्रम कौन कौन सा है? 

(1) त्यागपत्र, कल्याणी, सुखदा, सुनीता 

(2) सुनीता, त्यागपत्र, कल्याणी, सुखदा  

(3) कल्याणी, सुखदा, सुनीता, त्यागपत्र 

(4) सुखदा, सुनीता, त्यागपत्र, कल्याणी  

उत्तर (2) 

26. काल के अनुसार निम्नलिखित आचार्यों का सही अनुक्रम क्या है? 

(1) भामह, दंडी, आनंदवर्द्धन, अभिनवगुप्त 

(2) दंडी, आनंदवर्द्धन, अभिनवगुप्त, भामह 

(3) आनंदवर्द्धन, अभिनवगुप्त, भामह, दण्डी 

(4) अभिनवगुप्त, भामह, दंडी, आनंदवर्द्धन 

उत्तर (1) 

27. चरण में वर्णों की संख्या (क्रम से अधिक) के आधार पर इन वर्णिक छन्दों का सही अनुक्रम कौन-सा है? 

(1) वसन्त तिलका, मन्दाक्रान्ता, शार्दूल, विक्रीड़ित, इंद्रवज्रा 

(2) मन्दाक्रान्ता, शार्दुल, विक्रीडित, इंद्रवज्रा, वसंत तिलका 

(3) शार्दूल, विक्रीडित, इन्द्रवज्रा, वसंत तिलका, मन्दाक्रांता 

(4) इंद्रवज्रा, वसंत तिलका, मन्दाक्रांता, शार्दुल, विक्रीडित 

उत्तर (4) 

28. आदिकाल के निम्नलिखित रचनाकारों का सही अनुक्रम क्या है? 

(1) गोरखनाथ, अमीर खुसरो, विद्यापति, सरहपा 

(2) अमीर खुसरो, विद्यापति,सरहपा, गोरखनाथ 

(3) सरहपा, गोरखनाथ, अमीर खुसरो, विद्यापति 

(4) विद्यापति, सरहपा, गोरखनाथ, अमीर खुसरो 

उत्तर (3) 

29. स्थापना के आधार पर इन हिन्दी संस्थओं का सही अनुक्रम कौन-सा है? 

(1) काशी नागरी प्रचारण सभा, हिन्दी साहित्य सम्मेलन- प्रयाग, राष्ट्रभाषा प्रचार समिति- वर्धा, साहित्य अकादमी 

(2) हिन्दी साहित्य सम्मेलन-प्रयाग, राष्ट्रभाषा प्रचार समिति-वर्धा, साहित्य अकादमी, काशी नागरी प्रचारणी सभा 

(3) राष्ट्रभाषा प्रचार समिति-वर्धा, साहित्य आकदमी, काशी नागरी प्रचारणी सभा, हिन्दी साहित्य सम्मेलन- प्रयाग 

(4) साहित्य अकादमी, काशी नागरी प्रचारणी सभा, हिन्दी साहित्य सम्मेलन-प्रयाग, राष्ट्रभाषा प्रचारसमिति- वर्धा 

उत्तर (1) 

30. जन्म के आधार पर इन कवियों का सही अनुक्रम क्या है? 

(1) सूरदास, परमानंद दास, कृष्णदास, कुंभनदास 

(2) कुंभनदास, सूरदास, परमानंद दास, कृष्णदास 

(3) परमानंद दास, कृष्णदास, कुंभनदास, सूरदास  

(4) कृष्णदास, कुंभनदास, सूरदास, परमानंद दास 

उत्तर (2) 

1. निम्नलिखित भाषा रूपों और उनके प्रयोक्ताओं को सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                    सूची-II 

(a) दक्खिनी     (i) दामोदर पंडित 

(b) कोसली      (ii) कुतुबशाह 

(c) ब्रजबुलि     (iii) सरहदपाद 

(d) संधाभाषा   (iv) शंकरदेव अवतरे 

              (v) कुतुबुन 

विकल्प : 

    (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (ii)    (iii)      (iv) 

(2)  (ii)     (i)     (iv)     (iii) 

(3)  (ii)     (iii)    (iv)      (v) 

(4)  (v)     (iv)     (ii)      (i) 

उत्तर (2) 

32. निम्नलिखित इतिहासग्रंथो को उनके लेखकों से सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                                         सूची-II 

(a) हिन्दी साहित्य का अतीत             (i)रामस्वरूप चतुर्वेदी 

(b) हिन्दी साहित्य और संवेदना का विकास  (ii)गणपति चन्द्र गुप्त 

(c) हिन्दी साहित्य का वैज्ञानिक इतिहास    (iii)रामकुमार वर्मा 

(d) हिन्दी साहित्य का आलोचनात्मक इतिहास (iv)विश्वनाथप्रसाद मिश्र     

                                       (v) डॉ. नगेन्द्र  

विकल्प : 

     (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (ii)    (iii)      (v) 

(2)  (ii)     (i)     (iv)     (iii) 

(3)  (iv)     (i)    (ii)      (iii) 

(4)  (iii)     (ii)    (i)      (iv) 

उत्तर (3) 

33. निम्नलिखित रचनाओं को उनके कवियों के साथ सुमेलित कीजिये-  

सूची-I                             सूची-II  

(a) बीजक                  (i) जायसी 

(b) अखरावट               (ii) कबीरदास 

(c) भक्तमाल               (iii) नन्ददास 

(d) श्याम सगाई            (iv) नाभादास 

                         (v) हितहरिवंश 

विकल्प : 

    (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (iv)    (iii)      (ii) 

(2)  (iii)     (i)     (iv)     (ii) 

(3)  (ii)      (i)     (iv)      (iii)

(4)  (iv)     (iii)     (ii)      (i) 

उत्तर (3) 

34. निम्नलिखित रचनाओं को उनके कवियों के साथ सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                          सूची-II 

(a) छत्रसाल दशक            (i) घनानन्द 

(b) कवि कुल कल्पतरू        (ii) देव 

(c) भाव विलास             (iii) भूषण 

(d) इश्कलता                (iv) चिन्तामणि 

                          (v) सूरदास         

विकल्प : 

       (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (ii)     (i)    (iii)      (iv) 

(2)  (i)     (iii)     (iv)     (ii) 

(3)  (iv)    (i)     (ii)      (iii) 

(4)  (iii)     (iv)     (ii)    (i) 

उत्तर (4) 

35. निम्नलिखित काव्य छन्दो को उनके प्रयोक्ता कवियों के साथ सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                 सूची-II 

(a) सॉनेट         (i) अज्ञेय 

(b) हाइकू         (ii) त्रिलोचन 

(c) सवैया        (iii) गयाप्रसाद शुक्ल सनेही 

(d) कवित्त        (iv)आयोध्या सिंह उपाध्याय ‘हरिऔध’ 

                (v) मंगलेश डबराल 

विकल्प : 

       (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (iii)     (i)    (iv)      (ii) 

(2)  (i)     (iii)     (ii)     (iv) 

(3)  (iv)     (ii)    (v)     (i) 

(4)  (i)       (i)     (iii)    (iv) 

उत्तर (4) 

36. निम्नलिखित काव्य पंक्तियों के साथ उनके कवियों को सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                            सूची-II 

(a) चिर सजग आँखे उनींदी   (i) महावीर प्रसाद द्विवेदी  

आज कैसा व्यस्त बाना 

(b) रूपोद्यान प्रफुल्लप्राय    (ii) मैथिलीशरण गुप्त  

कलिका राकेंदु बिम्बानना 

(c) वेदने! तू भी भली बनी   (iii) महादेवी वर्मा 

(d) सुरम्य रम्ये, रस राशि   (iv) अयोध्यासिंह उपाध्याय 

रंजिते  

                        (v) सुभद्रा कुमारी चौहान 

विकल्प : 

       (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (iii)     (iv)    (ii)      (i) 

(2)  (v)     (iii)     (i)      (ii) 

(3)  (ii)      (i)     (v)     (iv) 

(4)  (iii)     (ii)     (i)     (v) 

उत्तर (1) 

37. निम्नलिखित नाटकों को उनके नाटककारों के साथ कीजिये- 

सूची-I                            सूची-II  

(a) बंधन अपने-अपने        (i) सुरेन्द्र वर्मा 

(b) सिन्दूर की होली         (ii) शंकर शेष 

(c) अशोक का शोक          (iii) लक्ष्मी नारायण लाल 

(d) नायक, खलनायक, विदूषक (iv) मोहन राकेश 

                          (v) रामकुमार वर्मा 

विकल्प : 

       (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (iv)    (ii)      (iii) 

(2)  (ii)     (iii)     (v)      (i) 

(3)  (v)      (i)     (iii)     (ii) 

(4)  (iii)     (ii)     (i)     (v) 

उत्तर (2) 

38. निम्नलिखित कहानियों को उनके कहानीकारों के साथ सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                                  सूची-II 

(a) लाल पान की बेगम          (i) रामदरश मिश्र  

(b) एक औरत की जिंदगी        (ii) निर्मल वर्मा  

(c) लंदन की एक रात           (iii) फणीश्वरनाथ रेणु  

(d) शवयात्रा                   (iv) श्रीकांत वर्मा 

                             (v) कृष्ण बलदेव वैद  

विकल्प : 

       (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (iii)    (iv)      (ii) 

(2)  (ii)     (i)     (iii)      (iv) 

(3)  (iv)   (iii)     (i)       (v) 

(4)  (iii)     (i)     (ii)     (iv) 

उत्तर (4) 

39. निम्नलिखित कहानियों को उनके कहानीकारों के साथ सुमेलित कीजिये- 

सूची-I                                    सूची-II 

(a) भक्ति धर्म की रसात्मक अनुभूति है।    (i) हजारी प्रसाद द्विवेदी 

(b) श्रद्धेय बनने का मतलब है ‘नान परसन’   (ii) रामचंद्र शुक्ल 

अव्यक्ति हो जाना। 

(c) काव्य आत्मा की संकल्पनात्मक अनुभूति है (iii) बालमुकुंद गुप्त  

(d) पंडिताई भी एक बोझ है।                (iv) हरिशंकर परसाई 

                                        (v) जयशंकर प्रसाद 

विकल्प : 

    (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (ii)    (iii)      (iv) 

(2)  (ii)     (iii)    (i)      (v) 

(3)  (ii)     (v)     (iv)    (iii) 

(4)  (ii)     (iv)     (v)     (i) 

उत्तर (4) 

40. निम्नलिखित अवधारणाओं के साथ उनके संस्थापकों को सुमेलित कीजिये – 

सूची- I                            सूची-II 

(a) सहृदय                   (i) भट्टनायकं 

(b) साधारणीकरण            (ii) आनन्दवर्धन 

(c) मधुमती भूमिका          (iii) जगदीश गुप्त 

(d) अर्थ की लय             (iv) केशव प्रसाद मिश्र

(v) अभिनव गुप्त  

विकल्प : 

     (a)    (b)     (c)      (d) 

(1)  (i)     (ii)     (iii)      (v) 

(2)  (iii)   (ii)      (i)      (iv) 

(3)  (ii)    (i)      (iv)     (iii) 

(4)  (i)     (ii)     (iii)     (iv) 

उत्तर (3) 

41. स्थापना (Assertion) (A) : उपमान को विधान मानना हिन्दी का प्राचीन सिद्धान्त है। 

तर्क (Reason) (R) : यह स्थापना आचार्य  रामचन्द्र शुक्ल की है अर्थात् यह नवीन सिद्धांत है। 

विकल्प: 

(1) (A) सही (R) गलत 

(2) (A) गलत (R) सही 

(3) (A) सही (R) गलत 

(4) (A) गलत (R) सही 

उत्तर (2) 

42. स्थापना (Assertion) (A) : अस्तित्ववाद विज्ञान विरोधी दर्शन है। 

तर्क (Reason) (R) : यह ‘चयन’ की अगाध छूट है और अराजकता, अनास्था तथा अतिस्वच्छन्दता को प्रश्रय देता है। विज्ञान का भी यह अंध समर्थन नहीं करता। 

विकल्पः 

(1) (A) सही (R) सही 

(2) (A) गलत (R) गलत 

(3) (A) सही (R) गलत 

(4) (A) गलत (R) सही 

उत्तर (1) 

43. स्थापना (Assertion) (A) : काव्य का सर्वस्व है। ‘काव्यालंकार’ । 

तर्क (Reason) (R) : काव्यालंकार में ‘रसध्वनि’ ‘रसवदलंकार’ आदि समस्त सम्प्रदायों का स्वतः सन्निवेश हो जाता है। वही सच्चे अर्थो में शोभाकारक धर्म है। 

विकल्पः 

(1) (A) सही (R) सही 

(2) (A) गलत (R) गलत 

(3) (A) सही (R) गलत 

(4) (A) गलत (R) सही 

उत्तर (2) 

44. स्थापना (Assertion) (A) : बिम्ब का मुख्य ध्येय होता है, वर्ण्य विषय का ऐन्द्रिय प्रतिबिंबन । 

तर्क (Reason) (R) : बिंब-विधायक रचनाकार ज्ञानेन्द्रियों के माध्यम से अपने भावों का सम्मूर्तन करके उनका संप्रेषण करता है और अपने बिंब से पाठक को जोड़ता है। 

विकल्पः 

(1) (A) सही (R) गलत 

(2) (A) गलत (R) सही 

(3) (A) सही (R) सही 

(4) (A) गलत (R) गलत 

उत्तर (3) 

45. स्थापना (Assertion) (A) : ‘स्वच्छन्दतावाद’ न छायावाद है, न रहस्यवाद । 

तर्क (Reason) (R) : यह शास्त्रीय जड़ता की प्रतिक्रिया से उत्पन्न वैयक्तिक कल्पनातिरेक और निजी रहस्यानुभूति और निज रहस्यानुभूति की उपज है। 

विकल्पः 

(1) (A) सही (R) सही 

(2) (A) गलत (R) गलत 

(3) (A) सही (R) गलत 

(4) (A) गलत (R) सही 

उत्तर (1) 

निर्देश : निम्नलिखित अवतरण को ध्यानपूर्वक पढ़े और उससे सम्बन्धित प्रश्नों (प्रश्न संख्या 46 से 50 तक) के दिये हुए बहु-विकल्पों में से सही विकल्प का चयन करे- 

व्यक्ति–सम्बन्ध–हीन सिद्धानत मार्ग निश्चिय बुद्धि को चाहे व्यक्त हो, पर प्रवर्तक मन को अव्यक्त रहते है। वे मनोरंजनकारी तभी लगते है, जब किसी व्यक्ति के जीवनाक्रम के रूप में देखे जाते है। शील की विभूतियाँ अनन्त रूपों में दिखायी पड़ती है। मनुष्य जाति ने जब से होश सम्भाला तब से वह इन अनन्त रूपों को महात्माओं के आचरणों तथा आख्यानों और चरित्र-सम्बन्धी पुस्तकों में देखती चलीं आ रही है। जब इन रूपों पर मनुष्य मोहित होता है, तब सात्विक शील की ओर आप से आप आकर्षित होता है। शून्य सिद्धानत वाक्यों में कोई आकर्षध शक्ति या प्रवृत्तिकारिणी क्षमता नहीं होती। ‘सदा सत्य बोलों’, ‘दूसरों की भलाई करों’, ‘क्षमा करना सीखों ऐसे-ऐसे सिद्धान्त वाक्य किसी को बार-बार बकते सुन वैसा ही क्रोध आता है जैसे किसी बेहूदे की बात सुनकर जो इस प्रकार की बाते करता चला जाय उससे चट कहना चाहिये- ‘बस चुप रहो, तुम्हे बोलने की तमीज नहीं, तुम बच्चों या कोल-भीलों के पास जाओं ये बातें हम पहले से जानते है। मानव-जीवन के बीच हम इसके सौन्दर्य का विकास देखना चाहते है। यदि तुम्हें दिखाने की प्रतिभा या शक्ति हो तो दिखाओं नही तो चुपचाप अपना रास्ता लो। गुण प्रत्यक्ष नहीं होता, उसके आश्रय और परिणाम प्रत्यक्ष होते अनुभावात्मक मन को आकर्षित करने वाले आश्रय और परिणाम है, गुण नहीं। ये ही अनुभूति के विषय है। अनुभूति पर प्रवृत्ति और निवृत्ति निर्भर है। अनुभूति मन की पहली क्रिया है, संकल्प-विकल्प दूसरी। अतः सिद्धानत-पंथों के सम्बन्ध में जो आनन्दानुभव करने की बाते है, जो अच्छी लगने की बातें है वे पथिकों में तथा उनके चारों ओर पाई जायेगी। सत्यपथ के दीपक उन्हीं के हाथ में है या वे ही सत्यपथ के दीपक है। सत्वोन्मुख प्राणियों के लिये ऐसे पथिकों के सामीप्य लाभ की कामना करना स्वाभाविक ही है। 

46. मनुष्य सात्विक शील की ओर आप ही आप आकर्षित कब होता है ? 

(1) जब शील की विभूतियों के अनन्त रूपों पर मोहित होता है। 

(2) शून्य सिद्धान्त वाक्यों को सुनकर । 

(3) जब वह काव्य गुणों को पढ़ता है। 

(4) निश्चयात्मक बुद्धि का जब उदय होता है। 

उत्तर (1)

47. प्रवृत्ति और निवृत्ति किस पर निर्भर है ? 

(1) कविता के आस्वादन पर 

(2) कविता के गुणों पर 

(3) अनुभूति पर 

(4) महात्माओं के आचरण पर 

उत्तर (3) 

48. मन की दूसरी क्रिया क्या है ? 

(1) अनुभूति 

(2) प्रत्यक्षानुभूति 

(3) संकल्प-विकल्प 

(4) सौन्दर्य 

उत्तर (3) 

49. व्यक्ति सम्बन्धहीन सिद्धान्त मार्ग मनोरंजनकारी कब लगते हैं? 

(1) निश्चयात्मक बुद्धि के अभाव में। 

(2) सिद्धान्तकारी वाक्यों को सुनकर 

(3) जब वे किसी व्यक्ति के जीवनक्रम के रूप में देखे जाते हैं। 

(4) सत्वोन्मुख प्राणियों के वचन सुनकर 

उत्तर (3) 

50. मानव जीवन के बीच हम किस सौन्दर्य का विकास देखना चाहते है ? 

(1) संकल्प-विकल्प का 

(2) सिद्धान्त वाक्यों में निहित बातों का 

(3) बच्चों को अच्छे-अच्छे सिद्धान्त वाक्य सुनाने का। 

(4) गुण-कथन का 

उत्तर (2)

Leave a Comment

error: Content is protected !!