Kavyashastra Ras Question and Answer – काव्यशास्त्र – रस प्रश्नोत्तर

1. रस सिद्धान्त के आदि प्रवर्तक हैं- 

(A) आचार्य भरत 

(B) भोजराज 

(C) आनंदवर्धन 

(D) विश्वनाथ 

उत्तर (A) 

2. भरत मुनि ने किस रस का उल्लेख नहीं किया है? 

(A) शृंगार 

(B) वीर 

(C) करुण 

(D) शांत 

उत्तर (D) 

3. “वाक्यं रसात्मकं काव्यं” यह कथन किस ग्रंथ का है? 

(A) शती नाट्य दर्पण 

(B) शृंगार प्रकाश 

(C) नाट्यशास्त्र 

(D) साहित्य दर्पण 

उत्तर (D) 

4. रसों की सही संख्या है- 

(A) आठ 

(B) दस 

(C) नौ 

(D) ग्यारह 

उत्तर (C)  

5. ‘साहित्य दर्पण’ के रचयिता हैं- 

(A) दण्डी 

(B) विश्वनाथ 

(C) भामाह 

(D) भरत 

उत्तर (B) 

6. ‘रसतरंगिणी’ के रचयिता हैं- 

(A) कुंतक 

(B) रूपगोस्वामी 

(C) मम्मट 

(D) भानुदत्त 

उत्तर (D) 

7. भरत के अनुसार, भावों की कुल संख्या कितनी है? 

(A) 48 

(B) 49 

(C) 50 

(D) 51 

उत्तर (B) 

8. संचारी भावों की सही संख्या है- 

(A) 31 

(B) 33 

(C) 32 

(D) 34 

उत्तर (B) 

9. ‘छल’ नामक चौतीसवाँ संचारी भाव मानने वाले आचार्य हैं- 

(A) अभिनव गुप्त  

(C) केशवदास  

(B) आचार्य शुक्ल 

(D) कवि देव 

उत्तर (D) 

10. ‘रस मंजरी’ के रचनाकार कौन हैं? 

(A) भानुदत्त 

(B) जगन्नाथ 

(C) कुंतक 

(D) विश्वनाथ 

उत्तर (A) 

11. जब रस के सभी संघटक तत्व अपने विशिष्ट गुणों को त्यागकर सामान्य हो जाते हैं, तो उस स्थिति को क्या कहते हैं? 

(A) आनंदीकरण 

(B) रसापकर्ष  

(C) साधारणीकरण 

(D) विलीनीकरण 

उत्तर (C) 

12. शृंगार को ‘रसराज’ की संज्ञा किसने दी है? 

(A) जगन्नाथ 

(B) भोजराज 

(C) भरत 

(D) दण्डी 

उत्तर (B) 

13. केवल कवि की अनुभूति का साधारणीकरण मानने वाले विद्वान् हैं— 

(A) अभिनव गुप्त 

(B) डॉ. नगेन्द्र 

(C) आचार्य शुक्ल 

(D) इनमें से कोई नहीं 

उत्तर (B) 

14. केवल आलम्बन का साधारणीकरण किसने माना है? 

(A) भट्टतौत 

(B) रामचंद्र शुक्ल 

(C) भट्टनायक 

(D) डॉ. नगेन्द्र 

उत्तर (B) 

15. ‘रसमीमांसा’ के लेखक 

(A) रामचंद्र शुक्ल 

(B) अभिनव गुप्त 

(C) डॉ. नगेन्द्र 

(D) रूपगोस्वामी 

उत्तर (A) 

16. ‘रसगंगाधर’ किसकी रचना है? 

(A) अभिनव गुप्त 

(B) भट्ट लोल्लट 

(C) जगन्नाथ 

(D) विश्वनाथ 

उत्तर (C) 

17. ‘कौशिकी वृत्ति’ से सम्बन्धित रस है- 

(A) शृंगार 

(B) वीर 

(C) करुण 

(D) अद्भुत 

उत्तर (A) 

18. केशवदास ने अपनी किस रचना में रस का विवेचन 

किया है ? 

(A) कविप्रिया  

(B) रसिकप्रिया  

(C) रामचंन्द्रिका  

(D) विज्ञान गीता  

उत्तर (B) 

19. शृंगार रस का प्रभुत्व किन संचारियों पर नहीं है? 

(A) धृति और दैन्य 

(B) हर्ष और त्रास 

(C) उग्रता और घृणा 

(D) जड़ता और व्याधि 

उत्तर (C) 

20. सात्विक अनुभाव कितने हैं? 

(A) दो 

(B) छः 

(C) चार 

(D) आठ 

उत्तर (D) 

21. आचार्य भरत ने कितने स्थायी भावों का उल्लेख किया है? 

(A) आठ 

(B) नौ 

(C) दस 

(D) ग्यारह 

उत्तर (A) 

22. निर्जन नटि-नटि पुनि लजियावै । 

       छिन रिझाइ, हँसि सैन बुलावै ॥ 

        इस चौपाई में कौनसा रस है? 

(A) हास्य रस  

(B) वियोग श्रृंगार रस  

(C) संयोग श्रृंगार रस  

(D) अद्भुत रस  

उत्तर (C) 

23. आचार्य भरत ने किस रस को सर्वाधिक सुखात्मक रस माना है? 

(A) करुण रस  

(B) संयोग श्रृंगार रस  

(C) वीर रस  

(D) हास्य रस  

उत्तर (D) 

24. हास्य रस के कितने भेद हैं? 

(A) छः 

(C) दस 

(B) आठ 

(D) बारह 

उत्तर (A) 

25. करुण रस के देवता हैं– 

(A) विष्णु 

(B) प्रमण्य 

(C) यम 

(D) महेन्द्र 

उत्तर (C) 

26. करुण रस को ‘रसराज’ किसने कहा है? 

(A) भरत ने 

(B) महिम भट्ट ने 

(C) पंडितराज ने 

(D) भवभूति ने 

उत्तर (D) 

27. माया को रस घोषित करने वाले आचार्य हैं- 

(A) आनंदवर्धन 

(B) भामाह 

(C) रुद्रट 

(D) भानुभट्ट 

उत्तर (D) 

28. ढोल गले खर पर प्रिय टोली । 

   लोट-लोट प्रेयसि लखि होली ।। 

   इस चौपाई में रस है 

(A) करुण 

(B) हास्य 

(C) अद्भुत 

(D) भयानक 

उत्तर (B) 

29. स्वप्न दरसि स्वपनिल छवि तोरी । 

कसकत चितवन करि चित चोरी ।। 

इस चौपाई में रस है- 

(A) पूर्व राग 

(B) मान  

(C) करुण  

(D) प्रवास 

उत्तर (A) 

30. फिरि-फिरि फेरि नयन अनबोलनि । 

   सहमि-सहमि चित अपर टटोलनि ।। 

   इन पंक्तियों में रस है- 

(A) पूर्वराग 

(B) प्रवास 

(C) मान 

(D) करुण 

उत्तर (C) 

31. जिय जरि-जरि नहिं लगि लवलेसा । 

   कँह हम कँह तुम समर विदेसा ॥ 

   इन पंक्तियों में रस है- 

(A) प्रवास  

(B) करुण 

(C) मान 

(D) पूर्वराग 

उत्तर (A) 

32. जीवित सुनि प्रिय मिलन हित, सूखि-सूखि जिय शेष । पंक्ति में प्रयुक्त रस है- 

(A) पूर्वराग 

(B) प्रवास 

(C) मान 

(D) करुण 

उत्तर (D) 

33. आलम्बन तथा उद्दीपन द्वारा आश्रय के हृदय में स्थायी भाव जाग्रत होने पर आश्रय में जो चेष्टाएँ होती हैं,उन्हें कहते हैं-

(A) अनुभाव 

(B) संचारी भाव 

(C) विभाव 

(D) उद्दीपन 

उत्तर (B) 

34. “निर्जन, श्यामा, उग्र रव, थरथर तिय सुधि खोय ।‘’ पंक्ति में प्रयुक्त रस है- 

(A) वियोग शृंगार रस 

(B) भयानक रस 

(C) वीर रस 

(D) रुद्र रस 

उत्तर (B) 

35. “मज्जा, मास, रुधिर-पतनारे । 

   सुनि मिचली कस होई निहारे । ” 

   पंक्ति में कौनसा रस है ? 

(A) भयानक 

(B) रौद्र 

(C) वीर 

(D) वीभत्स 

उत्तर (D) 

36. “जग असार संकट मुनि नाना । 

   विकल विरत चित साधु समाना ॥ ” 

   इस चौपाई में कौनसा रस प्रयुक्त हुआ है? 

(A) शांत 

(B) भक्ति 

(C) करुण 

(D) वीर 

उत्तर (A) 

37. रौद्र रस का स्थायी भाव है- 

(A) उत्साह 

(B) शोक 

(C) क्रोध 

(D) भय 

उत्तर (C) 

38. ‘असूया’ क्या है ? 

(A) एक काव्य दोष  

(B) एक अलंकार  

(C) एक संचारी भाव  

(D) एक काव्य गुण 

उत्तर (C) 

39. अनुभाव के कितने रूप माने गए हैं? 

(A) चार 

(B) छ: 

(C) आठ 

(D) दस 

उत्तर (A) 

40. वीभत्स रस का स्थायी भाव है- 

(A) निर्वेद 

(B) शोक 

(C) जुगुप्सा 

(D) विस्मय 

उत्तर (C) 

41. ‘भारती वृत्ति’ से सम्बन्धित रस है- 

(A) शृंगार 

(B) करुण 

(C) अद्भुत 

(D) शांत 

उत्तर (C) 

42. सर्वाधिक प्राचीन सम्प्रदाय है- 

(A) अलंकार 

(B) रस 

(C) वक्रोक्ति 

(D) रीति 

उत्तर (B) 

43. वात्सल्य को स्वतंत्र रस न मानने वाले आचार्य हैं- 

(A) केशव 

(B) मतिराम 

(C) रूपगोस्वामी  

(D) मम्मट 

उत्तर (D) 

44. हृदय की मुक्तावस्था को रस दशा किसने कहा है? 

(A) डॉ. नगेन्द्र 

(B) आचार्य शुक्ल 

(C) सुमित्रानंदन पंत 

(D) मैथिलीशरण गुप्त  

उत्तर (B) 

45. ‘उज्ज्वल नीलमणि’ के रचयिता हैं- 

(A) महाकवि देव 

(B) रूपगोस्वामी 

(C) भिखारीदास 

(D) तुलसीदास 

उत्तर (B) 

46. स्थायी भाव को उद्घोषित करने वाले कारण कहलाते हैं- 

(A) रस 

(B) संचारी भाव 

(C) अनुभाव 

(D) विभाव 

उत्तर (D) 

47. जब एक भाव के साथ अन्य अनेक भावों की एकत्र स्थिति हो, तो वहाँ होती है- 

(A) भावशबलता 

(B) भावशांति 

(C) भावसंधि 

(D) भावोदय 

उत्तर (A) 

48. अनुचित रूप से प्रवृत्त स्थायी भाव के आस्वाद को क्या कहते हैं? 

(A) रस मैत्री 

(B) रस विरोध 

(C) रसाभास 

(D) इनमें से कोई नहीं 

उत्तर (C) 

49. शृंगार रस की रस मैत्री किससे है? 

(A) शांत 

(B) हास्य 

(C) भयानक 

(D) रौद्र 

उत्तर (B) 

50. ‘भक्तिरसामृतसिंधु’ किसकी रचना है? 

(A) कुलपति मिश्र 

(B) केशवदास 

(C) भिखारीदास 

(D) रूपगोस्वामी 

उत्तर (D)

Leave a Comment

error: Content is protected !!